*साहित्य प्रेमियों का एक संयुक्त संघ...साहित्य पुष्पों की खुशबू फैलाता हुआ*...."आप अपनी रचना मेल करे अपनी एक तस्वीर और संक्षिप्त परिचय के साथ या इस संघ से जुड़ कर खुद रचना प्रकाशित करने के लिए हमे मेल से सूचित करे" at contact@sahityapremisangh.com पर.....हम आपको सदस्यता लिंक भेज देंगे.....*शुद्ध साहित्य का सदा स्वागत है*.....

Followers

Friday, May 15, 2020

इतना ख्याल रखो -एक सवैया

हाथ धोवो बार बार ,हाथ धो के पर यार ,
किसी के पीछे न पड़ो ,ये ही मेरी राय है
दूरियाँ बना के रखो ,तन रहे दूर दूर ,
दिलों में न दूरियां हो  ,बड़ा तड़फाय है
हाथ न मिलाओ भले दूर से नमस्ते करो ,
प्यार है पनपता जब दिल मिल जाय है
कोरोना के काल में तुम इतना ख़याल रखो ,
'घोटू 'कवि बात ये ,कहत समझाय  है

घोटू  

No comments: