*साहित्य प्रेमियों का एक संयुक्त संघ...साहित्य पुष्पों की खुशबू फैलाता हुआ*...."आप अपनी रचना मेल करे अपनी एक तस्वीर और संक्षिप्त परिचय के साथ या इस संघ से जुड़ कर खुद रचना प्रकाशित करने के लिए हमे मेल से सूचित करे" at contact@sahityapremisangh.com पर.....हम आपको सदस्यता लिंक भेज देंगे.....*शुद्ध साहित्य का सदा स्वागत है*.....

Followers

Wednesday, March 18, 2020

करोना का शुक्रिया

ऐ करोना,शुक्रिया ,तूने भला ऐसा किया ,
उनकी बक बक बंद ,मुंह पर ,उनने पट्टी बांधली
मास्क ने बंध टास्क  पूरा किया ,बिमारी बची ,
हो गयी है बंद नित फरमाइशों की धांधली
रेस्ट थोड़ा मिल गया उनकी चटोरी जीभ को ,
चटकारे भी लेती है कम,कुलबुलाना कम हुआ
बंद होटल ,रेस्टरां सब और ठेले चाट के ,
सन्नाटे बाज़ार में ,दहशत भरा मौसम हुआ

घोटू  
  

No comments: