*साहित्य प्रेमियों का एक संयुक्त संघ...साहित्य पुष्पों की खुशबू फैलाता हुआ*...."आप अपनी रचना मेल करे अपनी एक तस्वीर और संक्षिप्त परिचय के साथ या इस संघ से जुड़ कर खुद रचना प्रकाशित करने के लिए हमे मेल से सूचित करे" at contact@sahityapremisangh.com पर.....हम आपको सदस्यता लिंक भेज देंगे.....*शुद्ध साहित्य का सदा स्वागत है*.....

Followers

Sunday, February 24, 2019

अनिल ममता की प्रेमकहानी 
१ 
एक मामा की  भानजी ,एक मासी का लाल 
दोनों के नयना लड़े , ऐसा हुआ  कमाल 
ऐसा हुआ कमाल ,मिले आशीष शादी में 
हुई एक मीठी हलचल ,दोनों  के जी  में 
सुना अनिल का गान ,हुई ममता दीवानी 
शुरू हो गयी,इन दोनों की प्रेम कहानी 
२ 
प्रथम नज़र में जग गए ,दोनों के जज्बात 
घंटों टेलीफोन पर , शुरू हो गयी  बात 
शुरू हो गयी बात ,चौगुना बिल जब आया
देखा तो ,जाजूजी का, माथा  ठनकाया  
समझे अनिल प्यार की खिचड़ी लगा पकाने 
और इधर ममता मम्मी को लगी मनाने 
३ 
चिंगारी ने प्रेम की ,लिया रूप विकराल 
प्रेम अगन जलने लगे ,देखा जब ये हाल 
देखा जब ये हाल, हुए  राज़ी  घरवाले 
तीन मार्च को उनके फेरे करवा डाले 
होगए पच्चीस साल,जुडी जब इनकी जोड़ी 
 घोटू बस इतनी सी इनकी लव स्टोरी 

घोटू 
   

No comments: