*साहित्य प्रेमियों का एक संयुक्त संघ...साहित्य पुष्पों की खुशबू फैलाता हुआ*...."आप अपनी रचना मेल करे अपनी एक तस्वीर और संक्षिप्त परिचय के साथ या इस संघ से जुड़ कर खुद रचना प्रकाशित करने के लिए हमे मेल से सूचित करे" at contact@sahityapremisangh.com पर.....हम आपको सदस्यता लिंक भेज देंगे.....*शुद्ध साहित्य का सदा स्वागत है*.....

Followers

Wednesday, April 23, 2014

जो मोदी बात तुझमे है

         जो मोदी बात तुझमे है

देश उत्थान को लेकर ,भरे है सपने आँखों में,
                              वतन के वास्ते कुछ करने के,जज्बात तुझमे है
ये हिन्दू और मुस्लिम सिख्ख ,सब भारत के वासी है,
                                कि  कौमी एकता  के सुलझे ,ख़्यालात  तुझमे है
भीड़ लाखों की जुट जाती ,है तेरी बात सुनने को,
                                  है जादुई करिश्मा कोई करामात    तुझमे है
गजब का जोश,जज्बा है,सधी और सीधी बातें है,
                                  नज़र औरों में ना आती ,जो मोदी बात तुझमे है

मदन मोहन बाहेती'घोटू'

No comments: