*साहित्य प्रेमियों का एक संयुक्त संघ...साहित्य पुष्पों की खुशबू फैलाता हुआ*...."आप अपनी रचना मेल करे अपनी एक तस्वीर और संक्षिप्त परिचय के साथ या इस संघ से जुड़ कर खुद रचना प्रकाशित करने के लिए हमे मेल से सूचित करे" at contact@sahityapremisangh.com पर.....हम आपको सदस्यता लिंक भेज देंगे.....*शुद्ध साहित्य का सदा स्वागत है*.....

Followers

Saturday, March 22, 2014

वोट किसे दें ?


          वोट किसे दें ?

चुनाव में ढेर सारे प्रत्याशी
आपकी अनुकम्पा के अभिलाषी
अपनी अपनी पार्टी,अपने अपने वादे
अपने अपने सपने,अपने अपने इरादे
इसके पहले कि हम किसी को चुने
अपने दिल और दिमाग की सुने
एक बार ठीक से सोचे,विचारे
उनके किये गए कार्यों पर नज़र  डाले
पिछली बार आपने था  जिन्हे वोट दिया
उनने कितना और कैसा काम किया
पिछली बार कितने बड़े बड़े सपने थे दिखाए
कितने वादे किये थे,कितने निभाये
धर्म के नाम पर लोगों को भड़काया या नहीं 
 जातिवाद का लाभ उठाया या नहीं
सेवा के नाम पर कितनी की कमाई
कितने दल बदले, कितनी रिश्वतें खाई
कितनो का दिल दुखाया और सताया
कितने भाई  भतीजों को फायदा पहुँचाया 
क्योंकि हमने खाया है बहुत धोखा
और आज ही है वो मौका
 हम करें इनके कारनामो का लेखाजोखा 
क्योंकि आज अगर उनकी मीठी बातों में आ जायेंगे
तो कल पछतायेंगे
क्योंकि ये तो दिल्ली चले जायेंगे
और पांच  साल बाद नज़र   आयेंगे
आप अपनी तकलीफें और दर्द किसे बताएँगे
 इसलिये हम पहले अच्छी तरह  परखें ,जाने
उनके गुण दोष और काबलियत पहचाने  
और फिर तय करें कि वो सत्ता,
 में आने के लायक है या नहीं ?
हमारे वोट पाने के लायक है या नहीं ?

मदन मोहन बाहेती'घोटू'

No comments: