*साहित्य प्रेमियों का एक संयुक्त संघ...साहित्य पुष्पों की खुशबू फैलाता हुआ*...."आप अपनी रचना मेल करे अपनी एक तस्वीर और संक्षिप्त परिचय के साथ या इस संघ से जुड़ कर खुद रचना प्रकाशित करने के लिए हमे मेल से सूचित करे" at contact@sahityapremisangh.com पर.....हम आपको सदस्यता लिंक भेज देंगे.....*शुद्ध साहित्य का सदा स्वागत है*.....

Followers

Friday, June 7, 2013

बुढापे की खुराक

          बुढापे की खुराक 
          
खा लिया करते थे 'घोटू',पाच छह गुलाब जामुन ,
                उम्र का एसा असर है ,सिर्फ  जामुन खा रहे है 
दिल जलाया ,जलेबी ने,और रसगुल्ला हुआ गुल,
                  खीर खाना अब मना है,सिर्फ खीरा   खा रहे है 
भूल करके गर्म हलवा ,करेले का ज्यूस कड़वा ,
                    लूखी रोटी ,फीकी सब्जी, कैसे भी गटका रहे है  
तली चीजों पर है ताला ,चाय ,काफी पड़ी फीकी ,
                      शुगर  ना बढ़ जाए तन में,इसलिये घबरा रहे है 

  'घोटू'

No comments: