*साहित्य प्रेमियों का एक संयुक्त संघ...साहित्य पुष्पों की खुशबू फैलाता हुआ*...."आप अपनी रचना मेल करे अपनी एक तस्वीर और संक्षिप्त परिचय के साथ या इस संघ से जुड़ कर खुद रचना प्रकाशित करने के लिए हमे मेल से सूचित करे" at contact@sahityapremisangh.com पर.....हम आपको सदस्यता लिंक भेज देंगे.....*शुद्ध साहित्य का सदा स्वागत है*.....

Followers

Tuesday, November 6, 2012

Life is Just a Life: पिता: एक आकाश Pita: A Sky

Life is Just a Life: पिता: एक आकाश Pita: A Sky: कुछ सर्द लम्हों   की किताबें, जिन्दगी   गाती रही, उसके बाल भी पकते रहे और  झुर्रियां चढती रही। फ़िर चाहे रात दिन  खटता रहा हो  बाप ...

No comments: