*साहित्य प्रेमियों का एक संयुक्त संघ...साहित्य पुष्पों की खुशबू फैलाता हुआ*...."आप अपनी रचना मेल करे अपनी एक तस्वीर और संक्षिप्त परिचय के साथ या इस संघ से जुड़ कर खुद रचना प्रकाशित करने के लिए हमे मेल से सूचित करे" at contact@sahityapremisangh.com पर.....हम आपको सदस्यता लिंक भेज देंगे.....*शुद्ध साहित्य का सदा स्वागत है*.....

Followers

Tuesday, March 27, 2012

कार्टून

3 comments:

veerubhai said...

बहुत खूब .गरीबी रेखा और गरीबों दोनों को ऊपर लाने ले जाने की कल्बाज़ी आंकड़ों में यहाँ रोज़ -ब-रोज़ होती है .

dasarath said...

बेहतरीन प्रस्तुति

DR. ANWER JAMAL said...

Shukriya.