*साहित्य प्रेमियों का एक संयुक्त संघ...साहित्य पुष्पों की खुशबू फैलाता हुआ*...."आप अपनी रचना मेल करे अपनी एक तस्वीर और संक्षिप्त परिचय के साथ या इस संघ से जुड़ कर खुद रचना प्रकाशित करने के लिए हमे मेल से सूचित करे" at contact@sahityapremisangh.com पर.....हम आपको सदस्यता लिंक भेज देंगे.....*शुद्ध साहित्य का सदा स्वागत है*.....

Followers

Wednesday, March 7, 2012

होली की सुभकामनाये

अबकी होली ऐसे रंगों..
मन प्रीत  से रंग  जाये.
रहे न एको मन मे बैर..
बस प्रेम मिलन हो जाये..
रंगों तन को ऐसे की
मन भी रंगा रंग हो जाये..
धुले भले ही तन से रंग..
पर प्रीत बसी रह जाये...
खो के भाई चारे मे....
साद एक दूजे के हो जाये..
छूटे चाहे जग सारा..
पर प्रीत न छूटने पाए..
         
रचनाकार --प्रदीप  तिवारी
.kavipradeeptiwari.blogspot.com
.

3 comments:

veerubhai said...

नुश्खे सेहत के :

चेहरे से होली के रंग उतारने के लिए रूई के फाये को सरसों (मस्टर्ड आयल )या फिर गोले के तेल (कोकोनट आयल ) से संसिक्त करके स्तेमाल में लीजिये .आहिस्ता आहिस्ता रंग उतारिये .लेकिन होली खेलने से पहले चेहरे और हाथ पैरों पे तेल मलके चमड़ी के रंध्रों (फेफड़ों )को अवरुद्ध न करें .इससे बाद में पेचीलापन आ सकता है 'Dermatitis' हो सकती है .होली के आम रंगों में खतरनाक रसायनों का डेरा हो सकता है .ओरगेनिक कलर्स की और बात है .

'Dermatitis' चमड़ी का ऐसा रोग है जिसमें त्वचा लाल ,सूजन युक्त और दर्दीली हो जाती है .

'Dermatitis' is inflammation of the skin from any cause ,resulting in a range of symptoms such as redness ,swelling ,itching ,or blistering.

कमर दर्द से छुटकारे के लिए रोजाना १५-२० बादाम खाइए .स्किन समेत खाइए रात को भिगोकर छिलका मत हटाइये .छिलके में ही कोलेस्ट्रोल कम करने वाले जादुई रेशें हैं .

होली मुबारक सभी ब्लोगर भाइयों और बांध्वियों को .

वन्दना said...

बेहद खूबसूरत रंगमयी प्रस्तुति………… होली की हार्दिक शुभकामनाएँ !

Kahaf Rahmaani said...
This comment has been removed by a blog administrator.