*साहित्य प्रेमियों का एक संयुक्त संघ...साहित्य पुष्पों की खुशबू फैलाता हुआ*...."आप अपनी रचना मेल करे अपनी एक तस्वीर और संक्षिप्त परिचय के साथ या इस संघ से जुड़ कर खुद रचना प्रकाशित करने के लिए हमे मेल से सूचित करे" at contact@sahityapremisangh.com पर.....हम आपको सदस्यता लिंक भेज देंगे.....*शुद्ध साहित्य का सदा स्वागत है*.....

Followers

Friday, December 2, 2011

"टूटते सितारों की उड़ान" का आनलाइन विमोचन.....

सर्वप्रथम मै  सत्यम शिवम आप सभी साहित्य प्रेमियों का तहे दिल से अभिनंदन करता हूँ.....आखिरकार वो घड़ी आ ही गयी जिसका हमसबों को कब से इंतजार था।आज यहाँ इस मंच पर हमसब मिल कर "साहित्य प्रेमी संघ" के त्तत्वावधान में प्रकाशित काव्य संग्रह "टूटते सितारों की उड़ान" का आनलाइन विमोचन करेंगे।इस अवसर पर आप सभी सम्मिलित कवियों के साथ सभी साहित्य प्रेमीयों की उपस्थिती हमारे लिये सौभाग्य की बात है।

सम्मिलित कवि अपने हाथों से रिबन को काटकर आनलाइन विमोचन के कार्य को क्रियान्वित करे....साथ ही अपने ब्लाग के द्वारा और अन्य सोशल नेटवर्किंग साइटस के द्वारा सभी को बधाई और शुभकामनाएं दे.........धन्यवाद।

निचे पुस्तक का पूरा विवरण दिया जा रहा है....

(20 कवियों की काव्य माधुरियाँ) संपादक:-सत्यम शिवम

सजिल्द पुस्तक
कुल पृष्ठ:-218
मूल्य रु:-251 

सम्मिलित कविः-
1.) राज शिवम
2.) संगीता स्वरुप
3.) रुपचंद्र शास्त्री मयंक
4.) दर्शन कौर धनोए
5.) वंदना गुप्ता
6.) अशोक शुक्ला
7.) गौरव सुमन
8.) बबन पान्डेय
9.) माहेश्वरी कानेरी
10.) नीरज द्विवेदी
11.) लक्ष्मी नारायण लहरे
12.) साधना वैध
13.) दिव्येन्द्र कुमार रसिक
14.) विभोर गुप्ता
15.) नीलकमल वैष्णव अनिश
16.) सुषमा वर्मा
17.) उदय वीर सिंह
18.) प्रदीप कुमार साहनी
19.) मनीष कुमार
20.) सत्यम शिवम

"साहित्य प्रेमी संघ" के त्तत्वावधान में प्रकाशित काव्य संग्रह "टूटते सितारों की उड़ान".....20 भावप्रधान कवियों की काव्य माधुरियों से सुशोभित.....एक अनोखा काव्य संग्रह...जिसमें आपको हर रस और रंग की 166 कवितायें एक साथ पढ़ने का मौका मिलेगा...और साथ ही इन कवियों से रुबरु होने का भी मौका मिलेगा....यह एक अनोखी उड़ान है साहित्याकाश में...."टूटते सितारों की उड़ान".......[यह काव्य संग्रह अब आपको प्राप्त हो सकती है.....इस काव्य संग्रह की अग्रिम बुकिंग कराने के लिये और अपनी प्रति सुनिश्चित कराने के लिए आज ही हमे मेल से सम्पर्क करे at contact@sahityapremisangh.com या इस नम्बर पर सूचित करे (9934405997)....."अग्रिम बुकिंग कराने पर पुस्तक रिबेटिंग कीमत पर प्राप्त हो सकेगी".........धन्यवाद]
ISBN
(978-81-921666-4-3)

पुस्तक का प्रोमो विडियों आप देख सकते है यहाँ...

8 comments:

Neeraj Dwivedi said...

बहुत खुशी हो रही है यहाँ आप सबके साथ इस पुस्तक का विमोचन होते देखते हुये। बहुत आभार सत्यम जी। बहुत बहुत बधाई सभी सम्मलित कवियों को.

LAXMI NARAYAN LAHARE said...

भैया जी सुप्रभात ,आपका जीवन मंगलमय हो ! सबसे पहले आपको जन्म दिवस की हार्दिक बधाई ,आज का दिन आपके जीवन का सबसे खूब सूरत और यादगार दिन बनने जा रहा है इतने कम समय में साहित्य सृजन का जो इतिहास आपने रचा है वह प्रसंसनीय है ! आपको पुनः हार्दिक बधाई ,और ढेर सारी शुभकामनायें .............
टूटते सितारों की उडान..... को नई मंजिल और प्रतिष्ठा मिले ..........हार्दिक बधाई !
आपका
लक्ष्मी नारायण लहरे (छत्तीसगढ़ )

NEELKAMAL VAISHNAW said...

सत्यम जी आज आपके जीवन कि दो महत्वपूर्ण समय है पहला तो आपका जन्मदिवस और दूसरा है बहुप्रतिक्षित काव्य-संग्रह "टूटते सितारों की उड़ान" का विमोचन
आपको दोनों कि बहुत बहुत शुभकामनाएं
ईश्वर करे आपको हमेशा ही जीवन में अपार सफलता मिले इसी आशा के साथ
आपका मित्र
नीलकमल वैष्णव

Sadhana Vaid said...

बहुत बहुत बधाई सत्यम जी जन्मदिन की भी और 'टूटते सितारों की उड़ान' के विमोचन की भी ! आपका यश इसी तरह दिग्दिगंत में विस्तीर्ण हो यही कामना है ! विमोचन का यह अंदाज़ भी बहुत पसंद आया ! सभी साहित्यकार बंधुओं का हार्दिक अभिनन्दन तथा सभी को बहुत बहुत बधाई एवं शुभकामनायें !

मनीष सिंह निराला said...

आपको जन्मदिन की ढेर सारी बधाई ! ईश्वर आपके जीवन की हर मनोकामनायें को पूर्ण करे मेरी ईश्वर से यही विनती है ! साथ ही बता दूँ कि
काव्य पुस्तक का विमोचन बहुत सुखद तथा हर्षपूर्ण रहा ...आपका बहुत - बहुत धन्यबाद एवं बधाई !

दर्शन कौर said...

सर्वप्रथम जनम दिन की इस पावन बेला पर मेरा आशीर्वाद ग्रहण करो ...ईश्वर तुम्हारी हर मनोकामनाए पूरी करे ..दूसरी ख़ुशी तुम्हारी पुस्तक का विवेचन इस शुभ दिन होने से यह ख़ुशी तिगुनी हो गई हैं ...तीसरी ख़ुशी हम सब का इसमें शामिल होना ....बहुत -बहुत धन्यवाद बेटे !

ईं.प्रदीप कुमार साहनी said...

सबसे पहले सभी सम्मिलित रचनाकारों को ढेर सारी शुभकामनायें | प्रतिष्ठित कवियों के बीच स्वयं को पाकर बहुत गर्वान्वित महसूस कर रहा हूँ | आशा है काव्य प्रेमी सभी के साथ मेरी भी रचनाओं को पढ़ें और पसंद करें |
साथ ही सत्यम जी को बहुत बहुत धन्यवाद और आभार जिनके अथक प्रयास से हम सबकी ये "उड़ान" सफल हो पाई | जन्म दिवस की ढेर साड़ी शुभकामनायें भी |

अशोक कुमार शुक्ला said...

सत्यम जी जन्मदिन की बहुत बहुत बधाई
और 'टूटते सितारों की उड़ान' के विमोचन की भी !