*साहित्य प्रेमियों का एक संयुक्त संघ...साहित्य पुष्पों की खुशबू फैलाता हुआ*...."आप अपनी रचना मेल करे अपनी एक तस्वीर और संक्षिप्त परिचय के साथ या इस संघ से जुड़ कर खुद रचना प्रकाशित करने के लिए हमे मेल से सूचित करे" at contact@sahityapremisangh.com पर.....हम आपको सदस्यता लिंक भेज देंगे.....*शुद्ध साहित्य का सदा स्वागत है*.....

Followers

Thursday, September 1, 2011

इंतज़ार........

शब्द को सुन  कर ही 
लगता है लम्बा समय है 
अगर कोई किसी को इंतज़ार 
करने के लिए कहता है तो फिर 
पूछिये मत क्योंकि सभी को
मालुम है कि इंतजार की घड़ी 
कितनी लम्बी होती है ?
हर एक पल एक सदी के समान गुजरता है 
और मैंने भी तो काफी इंतज़ार किया है, 
इंतज़ार...
इस शब्द का अर्थ मुझसे 
अच्छा और कौन बता सकता है 
क्योंकि मैंने पूरी जिंदगी 
सिर्फ और सिर्फ तुम्हारा 
इंतजार ही तो किया है 
पर पता नहीं यह मौत 
आजतक आई क्यों नहीं........???

नीलकमल वैष्णव"अनिश"

3 comments:

शालिनी कौशिक said...

bahut sundar abhivyakti.
सांसदों के चुनाव के लिए स्नातक होना अनिवर्य करे‏

NEELKAMAL VAISHNAW said...

शालिनी जी बहुत बहुत धन्यवाद....
MITRA-MADHUR
MADHUR VAANI
BINDAAS_BAATEN

prerna argal said...

बहुत सुंदर प्रस्तुति/ इन्तजार की घडी बहुत दुखदाई तो होती है मगर किसी को पूरे दिल से चाहो तो कहते हैं ना की पूरी कायनात उसको मिलाने मैं आपकी मदद करती है /इसलिए निराशावादी नहीं आशावादी बनिए /इन्तजार जल्दी ही आपका ख़त्म होगा हम सबकी शुभकामनाएं आपके साथ हैं /अच्छी प्रस्तुति के लिए बधाई आपको /

please visit my blog
www.prernaargal.blogspot.com