*साहित्य प्रेमियों का एक संयुक्त संघ...साहित्य पुष्पों की खुशबू फैलाता हुआ*...."आप अपनी रचना मेल करे अपनी एक तस्वीर और संक्षिप्त परिचय के साथ या इस संघ से जुड़ कर खुद रचना प्रकाशित करने के लिए हमे मेल से सूचित करे" at contact@sahityapremisangh.com पर.....हम आपको सदस्यता लिंक भेज देंगे.....*शुद्ध साहित्य का सदा स्वागत है*.....

Followers

Monday, August 8, 2011

व्यंगात्मक क्षणिकाएं......

व्यंगात्मक क्षणिकाएं......
१:-
वे रिश्वत लेते हुए 
पकड़े गए रंगे हाथों
अगले दिन रिश्वत देकर 
छुट भी गए लगे हाथों.

२:-
ऊपरी आमदनी का एक हिस्सा 
वे अपने सीनियर को खिला रहे हैं
दरअसल वे 
जमाने के साथ चल कर 
ताल से ताल मिला रहे हैं.

३:- 
ये फिल्म वाले भी 
क्या "गजब" ढा रहे हैं 
पहले लगाई "हथकड़ी"
और किया "गिरफ्तार" 
करायी "जेल यात्रा" 
और फिर लगवाई "फांसी"
लेकिन अब "आरक्षण" भी दिला रहे हैं.

४:-
नेता से अभिनेता बनने की बात 
तब उनके दिमाग में आई 
जब चुनाव में उनके
सबसे कमजोर प्रतिद्वंदी ने 
उनकी जमानत जब्त करवाई. 

५:-
फिल्म की हिरोइन का मूड 
तब से अपसेट था 
जबसे उसे मालूम हुआ 
कि जिसे उसने चुम्बन सीन दिया 
वह हीरो नहीं डुप्लीकेट था. 

६:-
एक निर्देशक नेताजी को बतौर हीरो
अपनी फिल्म में लाये 
लेकिन वे सिर पिटते रह गए 
जब नेताजी चुनावी वादे कि तर्ज पर 
शाट देने पांच साल बाद आए. 

७:- 
इंजन चक्की देख के दिया फकीर रोए
साहब बाबू के बिच में फ़ोकट जाए न कोए. 

८:- 
बाबुल कि दुआएं लेती जा, जा तुझको सुखी संसार मिले
तू बेड पर पड़ी सोती रहे, पति खाना लिए तैयार मिले.......

नीलकमल वैष्णव "अनिश"
http://neelkamalkosir.blospot.com

6 comments:

prerna argal said...

/ ब्लोगर्स मीट वीकली (३) में सभी ब्लोगर्स को एक ही मंच पर जोड़ने का प्रयास किया गया है / आप आइये और अपने विचारों से हमें अवगत कराइये/ हमारी कामना है कि आप हिंदी की सेवा यूं ही करते रहें। सोमवार ०८/०८/११ कोब्लॉगर्स मीट वीकली (3) Happy Friendship Day में आप आमंत्रित हैं /

vidhya said...

bahut hi sunder

Vivek Jain said...

वाह, बहुत सुंदर
विवेक जैन vivj2000.blogspot.com

sushma 'आहुति' said...

very nice....

Neelkamal Vaishnaw said...

आप लोगों का बहुत बहुत शुक्रिया जो आप अपना कीमती समय निकल कर ब्लागरों का हौसला अफजाई करते हैं आप लोगों से एक और निवेदन है की आप कृपया हमारे ब्लाग पर भी पधारने की कृपा कर हमारे सदस्यता ग्रहण कर हमें भी अनुगृहित करें !!! धन्यवाद !!!


नीलकमल वैष्णव "अनिश"
http://neelkamalkosir.blogspot.com/
http://neelkamal5545.blogspot.com/
http://neelkamaluvaach.blogspot.com/

Neelkamal Vaishnaw said...

आप कृपया हमारे ब्लाग पर भी पधारने की कृपा कर हमारे सदस्यता ग्रहण कर हमें भी अनुगृहित करें.
!!! धन्यवाद !!!
neelkamalkosir.blogspot.com