*साहित्य प्रेमियों का एक संयुक्त संघ...साहित्य पुष्पों की खुशबू फैलाता हुआ*...."आप अपनी रचना मेल करे अपनी एक तस्वीर और संक्षिप्त परिचय के साथ या इस संघ से जुड़ कर खुद रचना प्रकाशित करने के लिए हमे मेल से सूचित करे" at contact@sahityapremisangh.com पर.....हम आपको सदस्यता लिंक भेज देंगे.....*शुद्ध साहित्य का सदा स्वागत है*.....

Followers

Saturday, August 27, 2011

पूज्य दादाजी को श्रद्धांजलि



मेरे पूज्य दादाजी को १७वी पुण्य तिथि में सादर श्रद्धांजलि |

चरणों में आपके सर नवाते रहेंगे,
संस्कारों को आपके निभाते रहेंगे,
गुजारिश है आपसे, सदा कृपा बनाये रखना,
हृदय से सुमन भेंट हम चढाते रहेंगे |

करता हूँ अर्पित मैं श्रद्धांजलि आपको,
परमात्मा में विलीन रहे आत्मा आपकी;
मोक्ष हो, मोह-माया का अंश भी न हो,
नश्वर जग से सुदूर रहे जीवात्मा आपकी |

3 comments:

Er. सत्यम शिवम said...

"साहित्य प्रेमी संघ" की ओर से भी दादाजी को बहुत बहुत श्रद्धांजली।

ईं.प्रदीप कुमार साहनी said...

बहुत बहुत धन्यवाद |

शालिनी कौशिक said...

चरणों में आपके सर नवाते रहेंगे,
संस्कारों को आपके निभाते रहेंगे,
गुजारिश है आपसे, सदा कृपा बनाये रखना,
हृदय से सुमन भेंट हम चढाते रहेंगे
प्रदीप जी बहुत भाव पूर्ण शब्दों में आपने अपने दादाजी को श्रीद्धासुमन अर्पित किये हैं आपके दादाजी को हमारी भी श्रृद्धांजलि.

न छोड़ते हैं साथ कभी सच्चे मददगार