*साहित्य प्रेमियों का एक संयुक्त संघ...साहित्य पुष्पों की खुशबू फैलाता हुआ*...."आप अपनी रचना मेल करे अपनी एक तस्वीर और संक्षिप्त परिचय के साथ या इस संघ से जुड़ कर खुद रचना प्रकाशित करने के लिए हमे मेल से सूचित करे" at contact@sahityapremisangh.com पर.....हम आपको सदस्यता लिंक भेज देंगे.....*शुद्ध साहित्य का सदा स्वागत है*.....

Followers

Sunday, August 28, 2011

"किन्नर कथा" का लोकार्पण सम्पन्न....

महेन्द्र भीष्म जी की नयी उपन्यास "किन्नर कथा" का लोकार्पण सम्पन्न।
इस अवसर पर लखनऊ में साहित्यकारों,लेखकों का जमावड़ा लगा।
शनिवार को सूचना निदेशालय के सभागार में महेन्द्र भीष्म की सद्य प्रकाशित पुस्तक किन्नर कथा का लोकार्पण मुख्य अतिथि हिन्दुस्तान समाचार पत्र के कार्यकारी संपादक नवीन जोशी के कर कमलों द्वारा किया गया। कार्यक्रम शुरू करने से पहले मुख्य अतिथि ने दीप प्रज्जवलित कर माँ सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण किया।
 
महेन्द्र भीष्म की यह कृति किन्नर कथा सत्य घटनाओं पर आधारित एक उपन्यास है। सुप्रसिद्घ कथाकार महेन्द्र भीष्म का उपन्यास "किन्नर कथा" सरस भाषा में बेहद गंभीरता के साथ यह प्रश्न उठाता है कि प्रकृति ने किन्नरों के साथ अन्याय क्यों किया? क्यों हम किन्नरों को मुख्य धारा में शामिल करने से बचते रहे हैं? क्यों यह माना जाता है कि वह हमारी तरह इन्सान नहीं हैं। बेहद गंभीरता के साथ किन्नरों की दुनिया की पड़ताल करते हुए महेन्द्र भीष्म का यह उपन्यास पाठकों की सोई संवेदना को झिंझोडक़र जगा देता है। किन्नरों की समस्याओं के साथ बाहरी दुनिया को अपने अनूठे अंदाज में परिचित करते हुए यह उपन्यास अपने आपको पढ़ा ले जाने की सहूलियत रखता है।
इस अवसर पर सर्व श्री शिवमूर्ति वरिष्ठ कथाकार एवं वरिष्ठ आलोचक वीरेन्द्र यादव,विशिष्ट अतिथि डॉ. मनसा पाण्डेय, डॉ. अमिता दुबे एवं कथाकार डॉ. विनय दास विशिष्ट वक्ताओं ने समारोह को गरिमा प्रदान की। श्री कैलाश चन्द्र मिश्र, स्वागत, श्री महेश भारद्वाज, सामयिक प्रकाशन, नई दिल्ली द्वारा धन्यवाद ज्ञापन एवं देवकी नन्दन शान्त ने समारोह का संचालन किया तथा लखनऊ नगर प्रबुद्घ साहित्यकार एवं बुद्घिजीवीगण समारोह में उपस्थित रहे।

चित्र में....
ऊपर कार्यक्रम का दीप प्रज्जवलित कर शुभारम्भ करते हुए मुख्य अतिथि नवीन जोशी नीचे पुस्तक का विमोचन करते हुए मुख्य अतिथि नवीन जोशी व वीरेन्द्र यादव वरिष्ठ आलोचक।
"साहित्य प्रेमी संघ" की ओर से भी ढ़ेरों शुभकामनाएँ.....